दक्षिण दिल्लीदिल्ली

आया नगर के लोगों ने सड़क को लेकर खोला मोर्चा

मेन मार्केट के सड़क की जानलेवा हालत लोगों का प्रदर्शन , एक दशक से झेल रहे समस्या, नेताओं से हैं लोग परेशान

दक्षिणी दिल्ली के आया नगर के मुख्य मार्ग की बदहाली से स्थानीय लोग काफी परेशान हैं,, बाजार के बीचो-बीच खतरनाक तरीके से टूटी फूटी सड़कों पर जमा पानी स्थानीय लोगों के लिए आफत का सबक बन गया है। स्थानीय नेताओं से परेशान अब यहां के लोगों ने हाथों में तख्तियां लेकर बीच सड़क पर उतर गए और सड़क को जाम करके रविवार को जबरदस्त प्रदर्शन किया।

स्थानीय निवासी बच्चन सिंह चौहान का कहना है, की आया नगर की हालात देखकर यह कहना मुश्किल है कि यह देश की राजधानी का हिस्सा है। मुख्य मार्ग की बदहाली की जो तस्वीर है, वह किसी दूर दराज इलाके के गांव से भी बदतर है। और यह समस्या कोई एक-दो दिन या दो-चार महीने या फिर एक दो साल की नहीं है। बल्कि दशक से ज्यादा हो गया। स्थानीय लोग इस समस्या से जूझ रहे हैं।

राकेश गौतम ने बताया की सभी नेताओं से आश्वासन मिलने के बाद इस सड़क का सुधार नहीं होने से नाराज लोगों ने आया नगर के मुख्य मार्ग पर हाथों में तख्तियां लेकर प्रदर्शन शुरू किया है। दिल्ली सरकार और एमसीडी के खिलाफ नारेबाजी की। जब चुनाव आता है, सभी नेता वोट के लिए उनके दरवाजे पर हाथ जोड़कर खड़े होते हैं। चुनाव जीतने के बाद उनकी सुनने वाला कोई नहीं है।

स्थानीय लोगों ने बताया की आया नगर से निगम पार्षद कांग्रेस की है, विधायक आम आदमी पार्टी के हैं और सांसद भारतीय जनता पार्टी के हैं। इसके बावजूद न जाने इस सड़क को लेकर इतना भेदभाव क्यों हो रहा है। यहां के लोगों को भी समझ में नहीं आ रहा है। कई लोग यह आरोप लगाते हैं, कि यहां के विधायक और निगम पार्षद में नहीं बनती है। जिसके कारण इस सड़क का यह हाल है। मानसून की पहली बारिश में जो समस्या पूरी दिल्ली ने झेला था, यहां के लोग उस वाटर लॉगिंग की समस्या से आए दिन जूझते रहते हैं। खतरनाक तरीके से टूटे-फूटे यहां की सड़क पर पानी जमा होने के कारण हादसे हो चुके हैं।

यहां के सीवर और नालियों की हालत खस्ताहाल होने के कारण सारा पानी इस सड़क पर जमा होता है। जिससे बीमारी भी फैलता है और सड़क पर जमा होने के कारण अगल-बगल के जो घर है, उनको भी नुकसान होता है। यहां मेन आया नगर रोड पर ही मेन मार्केट है। एक वक्त था, जब यहां पर खरीदारी के लिए दूर-दूर से लोग आते थे। लेकिन आज हालत ऐसी हो गई है यहां के दुकानदार ग्राहकों के लिए बाट देखते रहते हैं।

लोगों के प्रदर्शन के दौरान बीच रास्ते पर काफी देर तक जाम लग गया। प्रदर्शन में महिला एवं पुरुष सड़क पर लगे पानी में खड़े होकर विरोध किया। लोगों ने यहां अपील की है कि स्थानीय विधायक और पार्षद ने इस क्षेत्र में विकास के लिए कोई काम नहीं किया। इसलिए अब दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर उनकी गुहार को सुनें और इन्हे इस समस्या से निजात दिलाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button