जुर्मदिल्ली

इंडिया का मोबाईल पहुंचता था नेपाल और बंग्लादेश

मास्टरमाइंड गिरफ्तार, IMEI बदलने के था मास्टर 1000 मोबाईल 3 महीने में बेच चुका 59 मोबाईल बरामद, चोरी का मोबॉइल खरीदकर चेंज करता IMEI

दिल्ली के इलाकों से चुराए गए मोबाइल को कम कीमत पर खरीदकर फिर उसका आईएमईआई नंबर चेंज करके सैकड़ों की संख्या में नेपाल और बांग्लादेश में बेचने वाले गिरोह में शामिल और IMEI नम्बर चेंज करने वाले मास्टरमाइंड को आउटर डिस्ट्रिक्ट की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। डीसीपी आउटर हरेंद्र सिंह ने बताया कि इस मास्टरमाइंड की पहचान गौरव के रूप में हुई है, यह सुल्तानपुरी के हरीएनक्लेव का रहने वाला है। इसके पास से पुलिस ने 59 मोबाइल बरामद किया गया है।

डीसीपी ने बताया कि इससे पूछताछ में पता चला कि पिछले 90 दिनों के अंदर 1000 चोरी का मोबाइल नेपाल और बांग्लादेश भेजा जा चुका है। इसने इस गोरखधंधे के लिए मोबाइल की बड़ी शॉप खोली थी और वहां पर यही धंधा कर रहा था। इसकी सूचना स्पेशल स्टाफ की टीम को मिली थी। इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार, एएसआई राजकुमार, यशवीर, हेड कांस्टेबल नवीन, संदीप और मोहित की टीम ने इस मास्टरमाइंड को मंगोलपुरी इलाके से गिरफ्तार किया।

इसकी तलाशी में एक मोबाइल मिला और जब इसके बैग की तलाशी ली गई तो 59 मोबाइल बरामद किए गए जो अलग-अलग कंपनियों के थे। जब विस्तृत पूछताछ की गई तो पता चला यह सभी मोबाइल चोरी के हैं। जो दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से चुराए गए थे। इसे बेचने के लिए गफ्फार मार्केट जा रहा था। आगे की पूछताछ हुई तो इसने बताया कि मोबाइल चोरी करने वालों से कम कीमत पर मोबाइल खरीदता था और फिर उस मोबाइल को पॉलिश करके रिपेयर करके ठीक करके आगे उसको गफ्फार मार्केट, करोल बाग में बेच देता था।

वहां से चोरी का यह मोबाइल नेपाल और बांग्लादेश चला जाता था। गौरव आईएमइआई चेंज करने में मास्टर है, क्योंकि इसको चेंज करने से कोई भी चोरी के फोन को ट्रेस नहीं कर सकता है। पुलिस की जांच में इसके ऊपर कोई भी पुराना मामला नहीं मिला।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button