दिल्लीद्वारकाधर्म-कर्म

इस्कॉन द्वारका में चंदन यात्रा का उत्सव

हर दिन होगा शीतलता का अहसास कई तरह के किये गए कार्यक्रम आयोजित

अनुभव गुप्ता, नई दिल्ली
द्वारका में स्थित श्री रुक्मिणी द्वारकाधीश इस्कॉन मंदिर में चंदन यात्रा की शुरुआत की गई है, जो रविवार 23 अप्रैल से शुरू होकर अगले महीने 13 मई तक चलेगी।

गौरतलब है कि पुरी की जगन्नाथ यात्रा के रथ के निर्माण की शुरुआत भी इसी दिन से होती है। इस दिन से भगवान श्रीकृष्ण के शरीर पर चंदन का लेप लगाया जाता है, जिसे चंदन यात्रा के नाम से जाना जाता है। इस अवसर पर कल शाम को चंदन पेस्ट प्रतियोगिता “मेरा चंदन उसके चंदन से कम कैसे” भी आयोजित किया गया। तुला दान, अक्षय पात्र और सेल्फी प्वाइंट जैसे कार्यक्रमों के बीच भक्तों ने इस वीकेंड का आनंद लिया।

द्वारका के आसपास के साथ साथ दूर दूर से श्रद्धालु अपने अपने परिवार सहित इस्कॉन द्वारका में पहुंचे और इस उत्सव में भाग लेकर आनंद उठाया। उन्हें प्रसादम के रूप में पोहा दिया गया और घर ले जाने के लिए भक्तों ने भगवान कृष्ण का पसंदीदा पोहा खरीदना न भूले।

ऐसी मान्यता है, की भगवान कृष्ण और सुदामा के मिलन का दिन भी अक्षय त्रितया है। इस दिन ही गरीब सुदामा पत्नी के कहने पर तीन मुट्ठी पोहा लेकर अपने मित्र द्वारकाधीश से मिलने गए थे। भगवान ने प्रेम स्वरूप उसे ग्रहण किया और अनन्य भेंट प्रदान कर उनका असीम आभार प्रकट किया था। इसी अक्षय तृतीया के दिन अन्न की देवी माँ अन्नपूर्णा का जन्म हुआ था। इस्कॉन द्वारका की ‘फूड फॉर लाइफ’ श्रृंखला में कृष्ण भक्तों ने तुला दान अर्थात अपने शरीर के वजन के अनुसार अनाज का दान कर जीवनभर की प्रसन्नता पाई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button