पश्चिमी दिल्ली

फायरकर्मियों की टीम ने मांझे में फंसे बाज को छुड़ाया

आजाद होते ही लोगों ने बजाई तालिया, मोतीनगर से पहुंची थी फायर की टीम

अगस्त का महीना अब खत्म होने को आ रहा है, लेकिन जिन पतंगबाजों ने मांझे के जरिए हवा में अपनी पतंगे उड़ाई थी, उनके वे मांझे पेड़ों में फंसकर उलझे हुए हैं और उसमें ही फंसकर पक्षियां भी कैद हो रहे हैं। ऐसा ही एक मामला आज दिन में पश्चिमी दिल्ली के टैगोर गार्डन इलाके में सामने आया।

जिसमें एक गवर्नमेंट स्कूल के अंदर मौजूद पीपल के पेड़ के ऊपरी हिस्से में एक बाज पक्षी फंस गया। किसी ने मामले की सूचना पुलिस को दी, मौके पर पुलिस टीम पहुंची तो फिर उन्होंने इसकी जानकारी फायर कंट्रोल रूम को दे दी। लगभग 10:42 पर इसकी सूचना जब कंट्रोल रूम को मिली तो मोतीनगर फायर स्टेशन से पांच फायर कर्मियों की टीम को गाड़ी लेकर भेजा गया।

तकरीबन 20 से 25 मिनट के अंदर सब ऑफिसर प्रवीण कुमार, लीडिंग फायरमैन अशोक, फायर ऑपरेटर राजकुमार, विकास और सीबी सोमवीर की टीम ने मांझे में फंसे बाज को ऊपर से सकुशल छुड़ाया और नीचे लाया। फिर मांझे को सावधानी से काटकर अलग किया और फिर बाज आजाद कर हवा में उड़ने के लिए छोड़ दिया।

जैसे ही बाज को छुड़ाकर हवा में उड़ाया गया, वहां मौजूद लोगों ने तालियां बजाकर फायरकर्मियों की हौसला अफजाई की। गौरतलब है कि रोजाना जहां फायरकर्मी दर्जनों जगह लगी आग को बुझा रहे हैं, वही पेड़ों पर और खंभों पर मांझे में फंसकर, तार में फंसकर कैद होकर पक्षियों को आजाद भी करा रहे हैं।

सौरव शर्मा, एनएन 24 न्यूज़

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button