उत्तर प्रदेशदिल्ली

हाउसिंग स्कीम में चिटिंग करने वाले कपल हुए गिरफ्तार

एक प्रॉपर्टी पर कई जगह से लिया था करोड़ों का लोन

दिल्ली पुलिस की EOW की टीम ने एक प्रोपर्टी में करोड़ों की धोखाधड़ी करने वाले कपल को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान अशोक गोयल और वंदना गोयल के रूप में हुई है। आरोप है कि इन्होंने गाजियाबाद उत्तर प्रदेश में एक हाउसिंग स्कीम शुरू की थी। फिर एक ही प्रॉपर्टी कई खरीदारों को अलॉट कर दिया था। इसके साथ ही एक ही प्रोपर्टी को कई जगह गिरवी रखकर करोड़ों का लोन ले किया था।

अकेले इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड से ही 5.6 करोड़ रुपये का लोन लिया गया था। आरोपी अशोक गोयल को कोर्ट भी भगौड़ा घोषित कर चुकी थी। डीसीपी सुरेंद्र चौधरी के अनुसार वर्तमान मामला वेद सिंह धनखड़ की शिकायत पर दर्ज किया गया था। वह इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के ए.आर. थे।

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था, की इनलोगों ने 2007 में एनएच-24, गाजियाबाद में जयपुरिया अपार्टमेंट क्रॉसिंग रिपब्लिक नाम से एक परियोजना शुरू की थी। जयपुरिया बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों के आश्वासन पर शिकायतकर्ता ने परियोजना में खरीददारों को 24 लोन स्वीकृत किए।

बाद में यह पता चला कि आरोपियों ने एक ही फ्लैट अलग-अलग खरीदारों और फाइनेंस कम्पनियों को आवंटित किया था और शिकायतकर्ता से 5.6 करोड़ की धोखाधड़ी की थी।

आरोपियों के संदिग्ध ठिकानों पर कई जगह छापे मारे गए। दिल्ली एनसीआर के इलाके में उन्हें ट्रैक करने के प्रयास किए गए थे, लेकिन सफलता नहीं मिली थी। हाल ही में तकनीकी निगरानी में पता चला कि आरोपी अशोक गोयल और वंदना गोयल पुणे, महाराष्ट्र में छिपे हुए है। टीम ने छापा मारकर दंपति को गिरफ्तार कर लिया। इनके खिलाफ ईओडब्ल्यू, बाराखंभा रोड और बदरपुर थाने में तीन ठगी के मामले दर्ज पाये गये हैं।

सौरव शर्मा, एनएन 24 न्यूज़

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button