द्वारका

तीसरी आंख ने स्कूटी शौकीन को पहुंचाया जेल

द्वारका एंटी बरगलरी सेल ने पकड़ा

स्कूटी के शौकीन एक ऑटो लिफ्टर को द्वारका जिला के एंटी बर्गलरी सेल की टीम ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार ऑटो लिफ्टर की पहचान सचिन उर्फ मोटा के रूप में हुई है। इसके पास से पुलिस टीम ने चोरी की तीन स्कूटी भी बरामद की है। यह पहले से आधा दर्जन अलग-अलग मामलों में शामिल भी रहा है।

डीसीपी एम हर्षवर्धन ने बताया कि इलाके में हो रही स्कूटी चोरी की वारदात को देखते हुए एंटी बरगली सेल की पुलिस टीम को छानबीन के लिए और आरोपी को पकड़ने के लिए लगाया गया था। इंस्पेक्टर विवेक मंडोला की देखरेख में सहायक सब इंस्पेक्टर विनोद, कृष्ण, हेड कांस्टेबल बलजीत, अनिल, नरेश कुमार, कृष्ण, आजाद, महिला हेड कांस्टेबल सोनिया, कांस्टेबल परवीन, हेमंत और सुभाष की पुलिस टीम ने मामले की छानबीन शुरू की और सचिन उर्फ मोटा के बारे में जानकारी इकट्ठा किया। दादा देव हॉस्पिटल के पास सर्विस रोड पर एक स्कूटी पार्क की हुई CCTV में दिखाई दिया। जो डाबड़ी इलाके से चुराई गई थी। जैसे ही उस स्कूटी को लेकर निकलने के लिए एक सख्स शाम में वहां पहुंचा, पुलिस की टीम को पता चल गया। उसे मौकेबपर ही दबोचा लिया गया, फिर उसकी पहचान की गई। वह स्कूटी डाबड़ी इलाके से चोरी की निकली फिर उस आरोपी की निशानदेही पर दो और स्कूटी 40 फुटा रोड चाणक्य प्लेस पार्ट 2 से बरामद की गई। दोनों स्कूटी जनकपुरी और बिंदापुर थाना इलाके से चुराई गई थी। ऑटो लिफ्टर भी सीतापुरी इलाके का रहने वाला है। इससे पहले यह द्वारका साउथ, डाबरी, बिंदापुर इलाके में 6 वारदात को अंजाम देने में शामिल रह चुका है
इसकी गिरफ्तारी से डाबड़ी, जनकपुरी और बिंदापुर थाना के तीन मामलों का खुलासा करने का दावा पुलिस ने किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button