जुर्मदिल्लीद्वारका

दिल्ली वाला लूटता मंगलसूत्र, यूपी वाला करता डिस्पोजल, यूपी और दिल्ली में 54 मामलों में शामिल 2 वांटेड अरेस्ट

अनुभव गुप्ता, नई दिल्ली

द्वारका जिला के एंटी बर्गलरी सेल और डाबड़ी थाना की पुलिस टीम ने यूपी के एक ऐसे बदमाश को उसके दिल्ली के साथी बदमाश के साथ दबोचने में कामयाब हुई है, जिसपर 10 मामले यूपी में 10 धमकी देने और चोरी करने के साथ 4 मामले दिल्ली में भी दर्ज हैं। गिरफ्तार बदमाश की पहचान विक्रम उर्फ विक्की और उसके साथी अक्षय उर्फ टिंकू के रूप में हुई है। अक्षय पर भी दिल्ली में 40 मामले दर्ज हैं। ये दोनों यूपी के लखनऊ और दिल्ली के पालम इलाके के रहने वाले हैं।

डीसीपी एम हर्षवर्षधन ने बताया की 14 अप्रैल को डाबड़ी इलाके में एक महिला से गोल्ड चेन/मंगलसूत्र लूटने की वारदात को अंजाम दिया गया था। जब पीड़ित महिला ई रिक्शा से अपने घर जा रही थी। जैसे ही वह बिंदापुर बरातघर के पास पहुंची एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन बदमाश उसके पास पहुंचे और उसके गले से गोल्ड चैन लूट फरार हो गए। इस मामले में डाबड़ी थाना में एफआईआर दर्ज किया गया।

इस मामले को सुलझाने के लिए एसीपी ऑपरेशन रामअवतार की देखरेख में एंटी बरग्लेरी सेल के इंचार्ज इंस्पेक्टर विवेक मंडोला, हेड कांस्टेबल नरेश, अनिल और कांस्टेबल परवीन और डाबड़ी थाना की टीम को लगाया गया था। इस टीम ने जहां पर वारदात हुई थी उस जगह से सीसीटीवी फुटेज को चेक करना शुरू किया और आगे फॉलो करती हुई उस रूट तक पुलिस टीम पहुंची जहां वारदात को अंजाम देकर मोटरसाइकिल सवार भागे थे। पुलिस ने 100 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगाल डाला।

उसी दौरान पुलिस को पता चला कि इन्होंने द्वारका सेक्टर 1 पेट्रोल पंप पर बाइक में पेट्रोल डलवाया था। वहां पर ऑनलाइन पेमेंट भी किया था। पुलिस टीम को वहां से जानकारी मिली इसमें से एक की पहचान हुई, जिसका पता अक्षय के रूप में चला। पुलिस टीम ने उस बाइक को ट्रेस कर लिया पालम इलाके से और फिर पुलिस के जगह पर छापे मारती रही। जब अक्षय ड्रग्स लेने के लिए पालम पहुंचा तो पुलिस टीम ने वहां पर ट्रेप लगाकर उसे धर दबोचा। इसकी निशानदेही पर विक्रम उर्फ विक्की को भी गिरफ्तार किया गया। इसके पास से मंगलसूत्र और गोल्डचेन बरामद किया गया।

साथ ही पुलिस ने चोरी की मोटरसाइकिल को भी बरामद किया है। जिससे यह वारदात को अंजाम दे रहा था। अक्षय उर्फ टिंकू पालम गांव थाने का घोषित बेड करेक्टर है और इसके ऊपर पहले से लूट हत्या के प्रयास आर्म्स एक्ट सेंधमारी और वाहन चोरी के 40 मामले चल रहे हैं। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपी विक्रम मूलतः यूपी के अलीगढ़ का रहने वाला है। इसपर उत्तर प्रदेश में भी धमकी देने और चोरी आदि के 10 मामले दर्ज हैं और दिल्ली में 4 मामले दर्ज हैं। वारदात वाले दिन अक्षय ने अपने दो अन्य साथियों आयुष और अंकित के साथ मिलकर गोल्ड चेन लूटने की वारदात को अंजाम दिया था। फिर उस गोल्ड चेन को डिस्पोजल करने के लिए विक्रम को दिया था। पुलिस इस मामले में फरार दो और आरोपियों की तलाश कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button