दिल्ली

दिल्ली हरियाणा से बॉइक चुराकर मेवात बेचता था गैंग

एक साल में 500 बाईक चुराकर लगा चुका ठिकाना

क्राइम ब्रांच की टीम ने मेवाती ऑटो लिफ्टर गैंग का पर्दाफाश करके इसके एक मेम्बर को गिरफ्तार किया है। इनसे 15 चोरी की मोटरसाइकिल जिनमें कई बुलेट भी है, वह बरामद की गई है। इनकी गिरफ्तारी से 20 मामलों का खुलासा करने का दावा पुलिस ने किया है। क्राइम ब्रांच के स्पेशल पुलिस कमिश्नर रविंद्र सिंह यादव ने बताया कि गिरफ्तार किए गए गैंग के मेंबर की पहचान वसीम के रूप में हुई है। यह हरियाणा के पलवल का रहने वाला है।

यह पहले से भी फरीदाबाद और अंबेडकरनगर थाना इलाके के मामलों में शामिल रहा है। इसकी गिरफ्तारी से पुलिस ने नेबसराय, हौज खास, प्रीत विहार, जैतपुर, साउथ केंपस, जामिया नगर, बदरपुर, सनलाइट कॉलोनी और द्वारका साउथ थाना के मामलों का खुलासा किया है।

पुलिस के अनुसार इंटरस्टेट गैंग के मेंबर के बारे में पुलिस टीम लगातार पता लगा रही थी। टेक्निकल सर्विलांस के साथ-साथ सीसीटीवी फुटेज की मदद से जानकारी इकट्ठा कर रही थी। जहां से मोटरसाइकिल चोरी हो रही थी। इसी छानबीन में क्राइम ब्रांच की टीम को वसीम के बारे में स्पेसिफिक इंफॉर्मेशन मिल गई की यह नेब सराय थाना इलाके में आने वाला है। उसके बाद डीसीपी अंकित सिंह की देखरेख में एसीपी नरेश सोलंकी, इंस्पेक्टर विजय पाल दहिया, सब इंस्पेक्टर राजेश कुमार, सहायक सब इंस्पेक्टर विजू मून, हेड कांस्टेबल अरविंद, सोनवीर, संजय, महेंद्र कांस्टेबल विपिन और अभय कुमार पाठक की टीम ने ट्रैप लगाया और इसी धर दबोचा।

पूछताछ में पता चला कि यह दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से ग्रुप में आकर मोटरसाइकिल चोर करता था। फिर उसे मेवात ले जा करके बेच दिया करता था। पुलिस को इसने बताया कि पिछले 1 साल में 500 मोटरसाइकिल दिल्ली और हरियाणा से चोरी करके बेच चुका है। उसके बाद उसकी निशानदेही पर 15 चोरी की मोटरसाइकिल अलग-अलग जगह पर रखी हुई बरामद की गई जो मेवात इलाके में छुपा कर रखी गई थी। इस गैंग का मास्टरमाइंड मुनीम 70 ऑटो लिफ्टिंग के मामले में पहले ही गिरफ्तार हो चुका है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button