बिंदापुर

फिल्मी स्टाइल में बनाया लूट कांड का प्लान, 16 घंटे में मैनेजर, कैशियर, डिलीवरी बॉय पहुंच गए सलाखों के पीछे

मार्केट से खरीदवाया 2 टॉय पिस्टल

6.93 लाख की कारवाई आधी रात को लूट

पुलिस को दिखाता रहा CCTV और लूट का सबूत

फिल्म या वेब सीरीज में अपने कई ऐसे लूट कांड के किस्से देखे होंगे। जिसमें पूरी प्लानिंग करके बैंक या ऑफिस में लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया जाता है। लेकिन बाद में पुलिस उनके इस मामले का खुलासा कर देती है। ठीक ऐसा ही हुआ द्वारका जिला के बिंदापुर थाना इलाके में। जब आधी रात लोग अपने घरों में सो रहे थे, तो कोरियर कंपनी के एक ऑफिस में 6.93 लाख कैश लूट की वारदात हो गई। हथियारबंद दो बदमाश आए जिन्होंने हेलमेट और कपड़े से चेहरा ढक रखा था। उन्होंने गन पॉइंट पर लूट की वारदात को अंजाम दिया।

लूटकर जब बदमाश भाग गए, तो कैशियर ने तुरंत मामले की सूचना मैनेजर को दी। मैनेजर मौके पर पहुंचा और उसने पुलिस को बताया वारदात के बारे में। लगातार 12 घंटे तक वह सभी पुलिस के साथ मौजूद रहे। सीसीटीवी फूटेज से लेकर हर एक-एक चीज बताते रहे। लेकिन पुलिस ने सनसनीखेज मामले में मैनेजर, कैशियर और डिलीवरी बॉय सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर तिहाड़ जेल पहुंचा दिया।

बिंदापुर थाना की पुलिस टीम ने गन पॉइंट पर हुई लाखों की लूट के मामले का 12 घंटे के अंदर खुलासा करते हुए ना केवल चार को गिरफ्तार कर लिया। बल्कि इनके पास से पुलिस ने 4.93 लाख रुपए भी बरामद किया है। जो इन्होंने वारदात के दिन लूटा था। इसके अलावा दो टॉय गन और वारदात में इस्तेमाल मोटरसाइकिल को भी पुलिस ने जप्त किया है।

लूट की यह वारदात देर रात 9- 10 जून की आधी रात 2:00 बजे के आसपास हुई थी। जब दो बदमाश कोरियर के ऑफिस उत्तम नगर बाल उद्यान रोड पर पहुंचे और 6 लाख 93 हजार रुपए लॉकर से लूटकर फरार हो गए थे। एसीपी ईशान भारद्वाज की देखरेख में एसएचओ राजेश मलिक, हेड कांस्टेबल राजू राम, योगराज की टीम ने सीसीटीवी फुटेज और टेक्निकल सर्विलांस की मदद से जांच शुरू की।

दुर्गेश कुमार ने पुलिस को बताया कि दो बदमाश ऑफिस के अंदर घुसे एक ने हेलमेट से चेहरा ढक रखा था और दूसरे ने अपना चेहरा को कपड़े से कर कर रखा था। हथियार निकालकर दिखाया और लॉकर में जो कैश रखा हुआ था 6.93 लाख वहां से लेकर फरार हो गए। पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से वारदात वाली जगह से लेकर काफी लंबे रूट को चेक किया जब वारदात को अंजाम देकर भागे थे। पुलिस टीम छानबीन करती हुई पहले सचिन को दबोचा। जो मोहन गार्डन का रहने वाला निकला। उसके पास से 04 लाख 93638 रुपए बरामद किए गए जो उसने घर के अंदर बेड के नीचे छुपाकर रखा था।

उससे जब पूछताछ हुई तो उसने पूरे मामले का खुलासा कर दिया। कौशल ने प्लान बनाया था, इसमें उसने दुर्गेश और दोनो सचिन को भी शामिल किया। कौशल ने मादीपुर से दो टॉय पिस्टल खरीदकर लाया 1600 में और वारदात को अंजाम दिलवाया। गिरफ्तार आरोपियों में सचिन कुमार, सचिन, कौशल कुमार और दुर्गेश शामिल है। जिसमें सचिन कुमार बिजवासन की दूरी कोरियर कंपनी में डिलीवरी बॉय के रूप में काम करता है। कौशल कुमार इस कोरियर कंपनी में मैनेजर के रूप में काम करता है। जबकि दुर्गेश इस कंपनी में कैशियर के रूप में काम करता है। पुलिस ने इस मामले में पांच मोबाइल भी बरामद किया है, जो वारदात को अंजाम देने के दौरान प्लान करने में यूज किया गया था।

nn24news

एन एन न्यूज़ (न्यूज़ नेटवर्क इंडिया ग्रुप) का एक हिस्सा है, जो एक डिजिटल प्लेटफार्म है और यह बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड अन्य राज्य सहित राजनीति, मनोरंजन, खेल, करंट अफेयर्स और ब्रेकिंग खबरों की हर जानकारी सबसे तेज जनता तक पहुंचाने का प्रयास करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button