दिल्ली

बुजुर्गों, भोली-भाली महिलाओ को “टारगेट करता कपल”

सैलरी नहीं मिलने, घर से नोट का "बंडल चुराने का झांसा"

आप किसी बस स्टैंड पर, मेट्रो स्टेशन पर अकेले खड़ी होकर इंतजार कर रही हैं और इसी बीच कोई महिला आपके पास आ जाए। कहने लगे की वह जहां वह काम करती है, उसकी सैलरी नहीं मिली। इसलिए उसने मलिक के घर से 500 के बंडल चुरा लिया है। और बातों की जाल में फंसाकर 500 के नोटों का बंडल देकर आपके हाथ की अंगूठी, कान की बाली इत्यादि उतरवा ले तो समझ जाइए की वह नोट का बंडल नहीं बल्कि आप ठगी का शिकार हो रहे हैं। नारायण थाना की पुलिस ने ऐसे ही एक कपल को एक महीने की कड़ी मशक्कत बाद गिरफ्तार करने में कामयाब हुई है। जो इस तरह की वारदात को अंजाम दे रहे थे और बुजुर्ग महिलाओं को टारगेट कर रहे थे।

पुलिस ने जिस कपल को गिरफ्तार किया है, वह भोले भाले महिलाओं को ही टारगेट करके चीटिंग करते थे। इनकी पहचान शंकर और गंगा के रूप में हुई है। यह दोनों जेजे कॉलोनी घेवरा, दिल्ली के रहने वाले हैं। डीसीपी वेस्ट विचित्र वीर ने बताया कि इनके पास से गोल्ड और सिल्वर की कुछ ज्वेलरी भी बरामद की गई है। जो किसी महिला से चीटिंग करके उतरवाई गई थी।

पुलिस के अनुसार 26 जुलाई को चीटिंग की शिकायत एक महिला के द्वारा नारायण थाना में की गई थी। जिसमें पीड़ित महिला ने पुलिस को बताया कि वह नारायण विहार मेट्रो स्टेशन के पास खड़ी थी। इस समय एक लेडी उसके पास पहुंची और बोला कि उसका मालिक उसकी सैलरी नहीं दे रहा है। इसलिए उसने मलिक के घर से नोट का बंडल चुरा लिया है। यह कहकर उसे अपनी बातों के जाल में फंसा रही थी। इसी बीच एक और शख्स आया और कहा कि यह 500 का बंडल उसे देखकर उसकी ज्वेलरी ले ले। बातों की जाल में फंसाकर आरोपी महिला और शख्स ने पीड़िता को झांसे में ले लिया और उसकी ज्वेलरी उतरवा लिया। जब ठगी का एहसास हुआ तो वह थाने पहुंची और पुलिस ने मामला दर्ज किया।

एसएचओ सतीश कुमार की देखरेख में सहायक सब इंस्पेक्टर अरुण कुमार, हेडकांस्टेबल विनोद ढाका, दिनेश, कांस्टेबल मनीष और लेडी कांस्टेबल सुरेश की टीम ने छानबीन शुरू की। जिस जगह पर चीटिंग की वारदात हुई थी वहां पर सीसीटीवी के कैमरा को चेक किया। टेक्निकल सर्विलांस से भी छानबीन शुरू की। काफी मशक्कत के बाद आखिरकार इन दोनों के बारे में पुलिस को पता चला और फिर इनकी पहचान करके शंकर और गंगा को पकड़ा गया।

इनके पास से चीटिंग के दौरान ली गई ज्वैलरी को बरामद किया गया। पूछताछ में उन्होंने बताया कि यह दोनों कपल बुजुर्गों और भोली भाली महिलाओं को ही टारगेट करते हैं। इस तरह बातों के जाल में फंसा लेते हैं, 500 के नोटों को बंडल समझ करके ज्यादा फायदा के चक्कर में अपने कान की बाली हाथ की अंगूठी इत्यादि उतार कर दे देते हैं। अब तक इन्होंने और कितने वारदात को अंजाम दिया है, इसकी भी छानबीन की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button