Uncategorized

राजस्थान के सीकर से चल रहा था पेन इंडिया धोखाधड़ी का खेल,मास्टरमाइंड सहित 3 गिरफ्तार ||

राजस्थान के सीकर से चल रहा था पेन इंडिया धोखाधड़ी का खेल,मास्टरमाइंड सहित 3 गिरफ्तार ||

स्पेशल सेल के IFSO की टीम ने चीटिंग के एक बड़े मामले का खुलासा किया है। इस मामले में किंगपिन सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। जिनकी पहचान मोनू शर्मा, कुलदीप सिंह और चित्रेश गोयल के रूप में हुई है। यह तीनों ही राजस्थान के सीकर जिला के रहने वाले हैं। इनके पास से आधा दर्जन मोबाइल बरामद किया गया है। जिससे यह चीटिंग की वारदात को अंजाम देते थे।

डीसीपी प्रशांत गौतम ने बताया कि यह गैंग अब तक 1000 लोगों को इंडिया भर में टारगेट करके उनसे 17 लाख के आसपास चिटिंग कर चुका है। पुलिस के अनुसार यह गैंग रूरल इलाके में सीएससी ( कॉमन सर्विस सेंटर ) दिलवाने के नाम पर उनको टारगेट करता था। यह सीएससी सेंटर सरकार द्वारा चलाए जा रहे अलग-अलग ई सर्विस सुविधा लोगों को पहुंचाने का एक बड़ा माध्यम होता है। जैसे हेल्थ केयर फाइनेंस, एजुकेशन और एग्रीकल्चर से संबंधित होती है।

डीसीपी के अनुसार सीएससी ई गवर्नेंस सर्विस की तरफ से अखिलेश्वर यादव ने इस तरह की चीटिंग होने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई थी। उस मामले की छानबीन शुरू की गई। एसीपी जयप्रकाश की देखरेख में इंस्पेक्टर भवर सिंह, सहायक सब इंस्पेक्टर विजेंदर, देवेंद्र, हेड कांस्टेबल संदीप की टीम ने टेक्निकल सर्विलेंस से छानबीन करके मामले का खुलासा करने में कामयाबी पाई।

पुलिस ने देखा कि चीटिंग के लिए फेक वेबसाइट का इस्तेमाल किया गया है। उस मेल आईडी के जरिए मोबाइल नंबर तक पुलिस पहुंची, जो राजस्थान के सीकर जिला के रहने वाले मोनू शर्मा के नाम पर निकला। उससे आगे दो और मोबाइल नम्बर पुलिस को मिला। वह भी राजस्थान के रहने वाले चित्रेश नाम के शख्स के नाम पर था। पुलिस टीम ने इन दोनों के बारे में पता लगाना शुरू किया और आखिरकार काफी मशक्कत के बाद इन तीनों को गिरफ्तार करने में पुलिस कामयाब हुई। पहले पुलिस ने नीमकाथाना इलाके में एक कैफे पर छापा मारकर मोनू और उसके साथी कुलदीप सिंह को दबोचा।

इनके पास से 3 मोबाइल जो वारदात में इस्तेमाल किए गए थे, वह बरामद किया और फिर इनकी निशानदेही पर इसके पीछे साथी चित्रेश गोयल को भी सिंधी कैंप, जयपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास 3 और मोबाइल बरामद किए गए। इन लोगों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि चित्रेश गोयल चीटिंग केस मामले का मास्टरमाइंड है। यह लोग फेक वेबसाइट बनाकर लोगों को टारगेट करके उनसे ठगी करते हैं। जैसे ही लोग इनसे संपर्क करता है, यह लोग उनको धोखाधड़ी से अपना निशाना बना लेते है।

ठगी का अमाउंट चित्रेश गोयल की मां के बैंक अकाउंट में पहुंचता था। इन लोगों ने काफी व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर भी एडवर्टाइजमेंट करते थे। आगे की और छानबीन की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button