जुर्मदक्षिण दिल्लीदिल्ली

सांप का डर दिखाकर लाखों की अंगूठी लूट लेता, सपेरा, साधु सहित 4 गिरफ्तार ?

अनुभव गुप्ता, नई दिल्ली

राह चलते कोई सपेड़ा और उसके साथ, साधु के भेष में कोई मिल जाए और आपको 1-2 रुपया दान देने के लिए कहकर रोके और बोले तेरा भला होगा,, तो सावधान हो जाइए। कहीं ऐसा ना हो कि लुटेरे का अगला शिकार आप हो जाएं। क्योंकि लोधी कॉलोनी पुलिस ने ऐसे ही एक गैंग को दबोचा है, जो राह चलते लोगों को रोककर पहले तो एक-दो रुपये दान देने के लिए कहते, फिर जैसे ही टोकरी में पैसा डालने हाथ रखता, उनका हाथ पकड़कर अंगूठी तक उतरवा लेते थे।

इस सपेरा-साधु गैंग के 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिसमें साधु के वेश में रहने वाला राजू, सपेरा उर्फ सोनू, ऑटो ड्राइवर अवधेश यादव और इनसे गोल्ड ज्वेलरी खरीदने वाला ज्वैलर सुमित भी शामिल है। इनके पास से 35 लाख की अंगूठी, 3 मोबाइल, भगवान के तीन लॉकेट, बैग और वारदात में इस्तेमाल ऑटो भी बरामद किया गया है।

पुलिस के अनुसार लोधी कॉलोनी में रहने वाले एक शख्स से 14 अप्रैल को लूट की एक वारदात हुई थी। जब वह मॉर्निंग वॉक पर लोधी गार्डन जा रहे थे। जैसे ही ट्रैफिक सिग्नल पर गाड़ी रुकी 2 लोग उनके पास पहुंचे जो साधु के वेश में थे। उन्होंने एक-दो रुपये दान करने के लिए बोला, लेकिन जब उन्होंने पर्स निकाला तो उसमें 100 से कम नोट नहीं था। पीड़ित ने 100 के नोट को देकर बाकी वापस देने के लिए कहा। उतने में साधु ने पीड़ित का हाथ पकड़ लिया और कुछ मंत्र बोलने लगा। उनके उंगली में पहनी हुई डायमंड की अंगूठी को निकाल लिया। जब पीड़ित ने विरोध किया तो डिब्बे में रखे सांप निकालकर डरा दिया और वहां से ऑटो में बैठकर भाग गए।

तुरंत पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस को की। इस मामले में एसएचओ लोधी कॉलोनी की देखरेख में इंस्पेक्टर राजकुमार की टीम ने छानबीन शुरू की, लगभग 300 सीसीटीवी फुटेज की मदद से ऑटो के बारे में पता लगाया और फिर टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पुलिस टीम आरोपी तक पहुंचने में कामयाब हो गई। पुलिस ने सोनिया विहार में छापा मारकर ऑटो ड्राइवर को पकड़ा। उससे पूछताछ हुई तो इनके दो साथी और पकड़े गए जिन्होंने वारदात को अंजाम दिया था। फिर वह ज्वेलरी भी पकड़ा गया, जिसने लूटी हुई अंगूठी को खरीदा था।

आगे की छानबीन में पता चला की साधु वेश बदलने में माहिर है। यह वारदात को अंजाम देकर चलते ऑटो में कपड़ा बदलकर वेश चेंज कर लेता है, जिससे आगे पुलिस कहीं रोके तो पता नही चले। अब तक इन लोगों ने और कितने वारदात को अंजाम दिया है, यह पता लगाया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button