दिल्ली

12 मामलों को दे चुका दिल्ली में अंजाम

कोर्ट ने किया 3 साल पुराने मामले में भगोड़ा

स्नैचिंग, ऑटो लिफ्टिंग और चोरी के 12 मामलों को अंजाम दे चुके दिल्ली पुलिस के वांटेड भगोड़ा को आखिरकार द्वारका जिला के जेल बेल सेल की पुलिस टीम में गिरफ्तार कर लिया है। जिसकी पहचान राहुल पांडे के रूप में हुई है। इसे 3 साल पुराने मामले में द्वारका कोर्ट ने भगोड़ा भी घोषित किया था। इसकी नजफगढ़ थाना की पुलिस टीम काफी समय से तलाश कर रही थी।

डीसीपी द्वारका एम हर्षवर्धन ने बताया कि इस भगोड़ा को पकड़ने के लिए जेल बेल सेल के टीम को लगाया गया था। इंस्पेक्टर रघुवीर सिंह की देखरेख में सहायक सब इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह, हेड कांस्टेबल दिनेश कुमार और कॉन्स्टेबल विशु सिंह की टीम ने टेक्निकल सर्विलांस और लोकल इंटेलिजेंस इनपुट की मदद से इसके बारे में पता लगाना शुरू किया था। इस छानबीन में जब पुलिस टीम को इसके बारे में जानकारी मिल गई तो इसे नजफगढ़ के पास नगली विहार इलाके में ट्रैप लगाकर गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ की गई तो इसने पुलिस को बताया कि वह कोर्ट की सजा से बचने के लिए लगातार अपना ठिकाना बदल रहा था। इसके ऊपर 3 साल पहले नजफगढ़ थाना में 379/411/34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज हुआ था। उस मामले में द्वारका कोर्ट ने इसी साल 18 जुलाई को इसको भगोड़ा भी घोषित कर दिया था। क्योंकि नजफगढ़ पुलिस इसका पता नही लगा पा रही थी।

जेल बेल सेल की पुलिस टीम को पूछताछ से यह भी पता चला कि यह जनकपुरी, नजफगढ़, डाबरी, द्वारका साउथ, बिंदापुर, रनहोला, मायापुरी और रेलवे थाना के 12 मामलों में शामिल रहा है। यह कभी चोरी कभी आटो लिफ्टिंग तो कभी स्नेचिंग की वारदात को अंजाम देता है। कोर्ट में पेश किए जाने के बाद इसे न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button