दिल्ली

13 साल पहले मर्डर, आजीवन कारावास की सजा

दिल्ली से फरार, पंजाब-जम्मू में बनाया आशियाना, क्राइम ब्रांच ने पकड़ा

क्राइम ब्रांच की टीम ने लूट और मर्डर के मामले में आजीवन कारावास की सजा पा चुके एक वांटेड को गिरफ्तार किया है। जिसकी पहचान सोनू उर्फ हेमराज के रूप में हुई है। यह संगम विहार का रहने वाला है और ड्रग एडिक्ट भी है। इसे दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा कोविड के दौरान 2021 में पेरोल मिला था। लेकिन उसके बाद फरार हो गया। तबसे यह पुलिस को चकमा दे रहा था।

स्पेशल पुलिस कमिश्नर रविन्द्र सिंह यादव ने बताया की डीसीपी अंकित सिंह की देखरेख में एसीपी नरेश सोलंकी, इंस्पेक्टर विजय पाल दहिया, सब इंस्पेक्टर राजेश, सहायक सब इंस्पेक्टर विजुमोन, कांस्टेबल विपिन और लेडी कांस्टेबल शोभा की पुलिस टीम इसके बारे में लगातार पता लगा रही थी। टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर इसकी जानकारी इकट्ठा कर रही थी। उसी बीच एएसआई विज़ुमोन को सूचना मिल गई तो फिर पुलिस ने लाडो सराय इलाके में ट्रेप लगाकर छापा मारकर इसे पकड़ा।

पुलिस के अनुसार लूटपाट के लिए की गई हत्या के मामले में यह शामिल था। हत्या की वह वारदात 2010 में संगम विहार इलाके में हुई थी। जिसमें इसने गवर्नमेंट स्कूल के पास एक लड़के की हत्या कर दी थी। उस मामले में पुलिस ने तीन आरोपी सोनू उर्फ हेमराज, मुकेश उर्फ हड्डी और एक नाबालिक को पकड़ा था। बाद में कोर्ट ने इसको और इसके साथी को आजीवन कारावास की सजा सुना दी थी।

जब कोविड का कहर शुरू हुआ तो इसे तिहाड़ जेल से एक जून 2021 पेरोल मिल गया। उसके बाद यह मौका देखकर फरार हो गया। फिर यह दिल्ली छोड़कर पंजाब, उत्तरप्रदेश और जम्मू में ठिकाना बदलकर रहने लगा। कभी मन्दिर तो कभी गुरुद्वारा में रहकर समय गुजार रहा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button