द्वारका

2 दोस्तों को गर्ल फ्रेंड से शादी करनी पड़ी ऐसी महंगी, बन गए कार-स्कूटी चोर

खर्चा पूरा करने, खोला मोटर वर्कशॉप रिपेयर की गाड़ियों में लगाते चोरी के पास

द्वारका जिला के एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वाड की टीम ने दो ऐसे ऑटो लिफ्टर को गिरफ्तार किया है, जो उनके वर्कशॉप पर रिपेयर होने के लिए आने वाली के मॉडल की दूसरी गाड़ी चोरी करते थे। फिर चोरी की उस गाड़ी के पार्ट को निकालकर रिपेयर वाली गाड़ी में लगाकर कम कीमत लेकर गाड़ी ठीक करके दे देते थे। बाद में चोरी की उस गाड़ी के बॉडी को मायापुरी के स्क्रैप डीलर को बेच देते थे। इस तरह इनको डबल मुनाफा हो रहा था। एक तो रिपेयर कराने आए लोगों से इन्हें पैसा मिलता ही था, दूसरा बॉडी बेचकर मायापुरी स्क्रैप डीलर से भी पैसा लेते थे।

इसके वर्क शॉप पर गाड़ी रिपेयर कराने वाले लोगों को फायदा यह हो रहा था कि उनकी गाड़ी यहां सस्ते कीमत पर रिपेयर हो रही थी। कुछ ही महीनों में इनका वर्कशॉप फलने फूलने लगा था। और छोटी से लेकर लग्जरी गाड़ियां रिपेयर होने के लिए आने लगी थी। जिनमें सेंट्रो से लेकर क्रेटा, होंडा सिटी तक शामिल था। पुलिस को काफी संख्या में इन गाड़ियों के पार्ट्स भी मिले हैं, जिसको इन्होंने चुराकर निकाल लिया था।

डीसीपी एम हर्षवर्धन ने बताया की और साथ ही इनसे चोरी की गाड़ियां खरीदने वाला स्क्रैप डीलर को भी मायापुरी से पकड़ा गया है। इनके पास से चोरी की 07 कार, दो स्कूटी और लग्जरी गाड़ियों की काफी संख्या में पार्ट्स बरामद किए गए हैं। गिरफ्तार किए गए ऑटो लिफ्टर की पहचान मनीष बंसल और राहुल कुमार के रूप में हुई है। यह दोनों बुध विहार, रोहिणी के रहने वाले हैं। जबकि स्क्रैप डीलर प्रदीप, सुभाष पैलेस का रहने वाला है। इनके पास से जो गाड़ियां बरामद की गई है, उनमें 02 क्रेटा, सेंट्रो, आई-10, स्विफ्ट, होंडा BRV कार शामिल है।
साथ ही होंडा सिटी और क्रेटा गाड़ी के इंजन के काफी सारे पार्ट्स बरामद किए गए हैं।

एसीपी ऑपरेशन राम अवतार की देखरेख में एएटीएस के इंचार्ज इंस्पेक्टर कमलेश कुमार, सब इंस्पेक्टर धनंजय, दिनेश कुमार, सहायक सब इंस्पेक्टर जितेंद्र, हेड कांस्टेबल संदीप बुडानिया, वरुण, सोनू, मनीष, राजेश, धर्मवीर, मनोज, जय राम और कांस्टेबल अरविंद की टीम ने इनकी गिरफ्तारी से डाबड़ी, आदर्श नगर, केशवपुरम, हरी नगर और देश बंधु गुप्ता रोड के 07 मामलों का खुलासा किया है। जब कांस्टेबल अरविंद को इसके बारे में एक इंफॉर्मेशन मिली थी और पता चला था कि यह लोग बुध विहार, रोहिणी में इस तरह का गोरखधंधा चला रहे हैं। पुलिस टीम ने तुरंत वहां पर छापा मारकर आधा दर्जन गाड़ियां, स्कूटी और गाड़ियों के स्क्रैप बरामद किए।

पूछताछ में पता चला कि गिरफ्तार आरोपी मनीष और राहुल बुध विहार में मोटर वर्कशॉप कुछ समय से चला रहा था। दोनों पेशी से मैकेनिक है, इन दोनों की लव मैरिज हुई थी। उसके बाद परिवार वालों ने अलग कर दिया तो यह दोनों किराए के मकान में रहने लगे। लेकिन इकोनॉमिकली कंडीशन उतनी अच्छी नहीं थी, जिसकी वजह से इनकी आपस में खटपट होने लगी। फिर इन्होंने शॉर्टकट से पैसा कमाने के लिए प्लान किया, इन्होंने वर्कशॉप खोल करके इस तरह से काम करना शुरू किया। जो लोग अपनी गाड़ी को रिपेयर कराने के लिए आते उनको कम कीमत पर रिपेयर करके दे देते थे। जिससे इनको अच्छी कमाई होने लगी और लोगों को भी फायदा होने लगा कि उनकी गाड़ियां कम कीमत पर ठीक होने लगी थी लेकिन उन्हें नहीं पता था कि उनकी गाड़ी में जो पास लग रहे हैं वह चोरी के हैं।


 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button