जुर्मद्वारका

BJP लीडर की हत्या और फायरिंग करके एक्सटॉर्शन में वांटेड

नन्दू गैंग के 2 क्रिमनल को स्पेशल सेल ने दबोचा

द्वारका के बीजेपी लीडर सुरेंद्र मटियाला की हत्या और मोहन गार्डन थाना इलाके में फायरिंग करके 50 लाख के एक्सटॉर्शन मांगने वाले मामले में वांटेड दो क्रिमिनल को स्पेशल सेल की पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया है। जिनकी पहचान रोहित शर्मा उर्फ अन्ना उर्फ गोलू और उसके साथी संजू उर्फ सुशांत राणा के रूप में हुई है। अन्ना,, नंदू गैंग का हेचमैन है, जो नंदू के अब्सेंस में इलाके में मर्डर, हमला करने जैसे वारदात को अंजाम देता है। अन्ना के पास से पॉइंट 32 बोर का पिस्टल और चार जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। आगे की पूछताछ पुलिस टीम कर रही है।

सेल के स्पेशल सीपी एचएस धालीवाल ने बताया कि डीसीपी नॉर्दन रेंज राजीव रंजन की देखरेख में एसीपी ललित मोहन नेगी, हृदय भूषण, इंस्पेक्टर सतीश राणा और मनोज कुमार की टीम कपिल सागवान उर्फ नंदू गैंग के इन 2 बदमाशों को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। यह दोनों ही हरियाणा के झज्जर के रहने वाले हैं।

अन्ना के पिता हरियाणा में सरकारी कर्मचारी हैं और अन्ना का दो भाई मोहित और सोहित बीजेपी नेता सुरेंद्र मटियाला की हत्या में पहले ही गिरफ्तार हो चुका है। यह सबसे पहले आर्म्स एक्ट में गिरफ्तार हुआ था और जेल से आने के बाद यह रोड कंस्ट्रक्शन का काम शुरू किया। 2019 में उसके पास बहादुरगढ़ के रहने वाले सचिन छिकारा का कॉल आया उसने बताया कि नंदू और गुलशन जेल से छूट के बाहर आ रहे हैं और उसी के लिए वह लोग गोयला डेयरी के एक फार्म पर पार्टी करने वाले हैं। सचिन ने अन्ना को पार्टी में इनवाइट किया था।

पुलिस के अनुसार रोहित उर्फ अन्ना पर फायरिंग करके 50 लाख की रंगदारी मांगने का आरोप है। इसके अलावा इसके ऊपर क्राइम ब्रांच, नजफगढ़, मोहन गार्डन, बिंदापुर, वसंत कुंज इलाके में कई मामले दर्ज हैं। पूछताछ में इनसे पता चला कि 14 मई 2023 को बीजेपी नेता सुरेंद्र मटियाला कि उन्हीं के ऑफिस में गोली मारकर हत्या की गई थी। उस सनसनीखेज हत्या का मास्टरमाइंड और पूरा षड्यंत्र रचने वाला रोहित शर्मा उर्फ अन्ना ही है।

क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर मनोज कुमार को पता चला था, की यह लोग पंजाब के मोहाली में रुके हुए हैं। पुलिस टीम तुरंत वहां के लिए रवाना हुई, शाम के समय में पुलिस टीम ने ट्रैप लगाकर रोहित शर्मा उर्फ गोलू उर्फ अन्ना को धर दबोचा। जब उससे पूछताछ की गई तो मोहाली के ही दूसरे ठिकाने से उसके साथी संजीव को भी पकड़ा गया और इनसे पूछताछ के बाद इनसे हथियार मिला।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button