दिल्ली

Delhi Breaking News: एशिया की सबसे सुरक्षित तिहाड़ जेल में गैंगवार, गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया की जेल के अंदर हत्या

गोगी गैंग के योगेश उर्फ टुंडा सहित 4 कैदियों पर आरोप रोहित नाम का एक और कैदी घायल, डीडीयू में भर्ती

अनुभव गुप्ता, नई दिल्ली

दिल्ली के तिहाड़ जेल में गैंगवार लगातार जारी है। गैंगस्टर सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया की आज हत्या कर दी गई। उस पर विरोधी गुट योगेश उर्फ टुंडा और उसके साथियों ने हमला किया है। हालांकि तुरंत घायल टिल्लू को हरिनगर के दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे बाद में मृत घोषित कर दिया। टिल्लू ताजपुरिया बड़ा गैंगस्टर था, इस पर कई मामले चल रहे थे। इस मामले के सामने आने के बाद जेल में हड़कंप मचा हुआ है। क्योंकि लगातार कोशिश के बावजूद जेल के अंदर गैंगवार थमने का नाम नहीं ले रहा है।

सूत्रों के अनुसार जेल नंबर आठ में योगेश टुंडा नाम के कैदी ने लोहे की ग्रिल के जंगले को काटकर टिल्लू पर कई कैदियों ने मिलकर जानलेवा हमला किया है। जिसमें टिल्लू की मौत हुई है। टिल्लू ताजपुरिया पर सुबह-सुबह हमला किया गया था। उसकी मौत एक घन्टे के अंदर ही हो गई है। उसकी गोगी गैंग से जुड़े बदमाशों ने हत्या की है।

गोगी की हत्या के पीछे भी टिल्लू का ही हाथ बताया जा रहा था। बताया जा रहा है, की इसके बाद लॉरेंस बिश्नोई गैंग से भी टिल्लू की दुश्मनी हो गई थी। लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने कई बार उसे धमकियां दी थी। टिल्लू को हाई सिक्योरिटी वाले तिहाड़ जेल के बैरक नंबर 9 में रखा गया था।

गौरतलब है कि सितंबर 2021 में रोहिणी कोर्ट में वकील की ड्रेस पहनकर आए दो हमलावरों ने जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी पर गोलियां बरसा दी थी। जिसमें गोगी की मौके पर ही मौत हो गई थी। उस हत्याकांड में सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया का नाम सामने आया था। हालांकि उस दौरान पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दोनों शूटर भी मारे गए थे। उस समय टिल्लू ताजपुरिया यमुनापार के मंडोली जेल में बंद था, उसकी गोगी गैंग से लगातार दुश्मनी चल रही थी।

इस मामले की पुष्टि करते हुए तिहाड़ जेल प्रशासन ने बताया कि सुनील उर्फ टिल्लू पर 4 कैदियों ने जानलेवा हमला किया है। टिल्लू जेल के हाई रिस्क वार्ड में बन्द था। जिन दूसरे कैदियों पर हमला का आरोप है उनकी पहचान दीपक उर्फ तीतर, योगेश उर्फ टुंडा, राजेश और रियाज खान के रूप में हुई है। यह सभी चारों गोगी गैंग से जुड़े हुए हैं ।टिल्लू ग्राउंड फ्लोर पर हाई सिक्योरिटी वार्ड में था और उसपर हमला करने वाले चारों आरोपी फर्स्ट फ्लोर पर थे।

इन्होंने मौका देख कर फर्स्ट फ्लोर पर बने हैं सिक्योरिटी ग्रिल को काटकर के अलग किया और फिर बेडशीट के सहारे ग्राउंड फ्लोर पर छलांग लगाकर पहुंच गए और जेल में बने सुआ से टिल्लू ताजपुरिया पर जानलेवा हमला कर दिया। सुबह 6:15 बजे के आसपास घटना हुई घायल सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया का जेल में ही शुरुआती इलाज किया गया और फिर वहां से दीनदयाल हॉस्पिटल में भेजा गया। जहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पश्चिमी जिला के एडिशनल डीसीपी अक्षत कौशल ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि सुबह 7:00 बजे के आसपास पुलिस को दीनदयाल हॉस्पिटल से सूचना मिली थी। तिहाड़ जेल में बंद अंडर ट्रायल कैदी टिल्लू को गंभीर रूप से घायल हालत में हॉस्पिटल लाया गया था। जिसे जांच के बाद मृत घोषित कर दिया गया। साथ ही एक और अंडरट्रायल कैदी को घायल हालत में लाया गया था। जिसकी पहचान रोहित के रूप में हुई है, उसका इलाज डीडीयू हॉस्पिटल में चल रहा है। पुलिस के अनुसार वह आउट ऑफ डेंजर है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button