दिल्ली

राजधानी में क्यों बढ़ रहा है सर्दी का सितम, अभी और परेशान करेगा प्रदूषण

राजधानी दिल्ली पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय से कांप रही है। 15 जनवरी को 1951 के बाद से इस दिन का सबसे कम तापमान दर्ज किया गया। एक चीज जिसकी वजह से कड़ाके की ठंड पड़ रही है, वह है धूप की कमी।

राजधानी दिल्ली पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय से कांप रही है। 15 जनवरी को 1951 के बाद से इस दिन का सबसे कम तापमान दर्ज किया गया। एक चीज जिसकी वजह से कड़ाके की ठंड पड़ रही है, वह है धूप की कमी। इस बार सर्दी इतनी क्यों पड़ रही है, इसे समझने के लिए मौसम के आंकड़ों पर एक नजर डालते हैं।

क्या प्रदूषण सूरज की रोशनी रोक रहा?

13 जनवरी को कम दृश्यता के कारण इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से लगभग 100 उड़ानों के आवागमन में देरी हुई। बहुत अधिक प्रूदषण भी इसका एक कारण है। हाल के वर्षों में मानकों के अनुसार 16 जनवरी तक का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 267.8 अंक रहा, जो 2018 के बाद से सबसे कम है। इससे पता चलता है कि धुंध की तुलना में कोहरे के कारण दृश्यता और धूप की कमी अधिक होती है।

ठंडे दिन मुश्किल बढ़ाते हैं

15 जनवरी को अधिकतम तापमान 13.03 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य तापमान से 7.3 डिग्री कम है। यह 1951 के बाद से इस दिन के अधिकतम तापमान की तुलना में सबसे कम है। अधिकतम तापमान में यह बदलाव अभूतपूर्व है। हालांकि पिछले साल 18 अक्तूबर को 7.5 डिग्री का अंतर दर्ज किया गया था।

ये भी पढ़े : दिल्ली में संभावित आतंकी हमले के अलर्ट के बाद सुरक्षा बढ़ी

nn24news

एन एन न्यूज़ (न्यूज़ नेटवर्क इंडिया ग्रुप) का एक हिस्सा है, जो एक डिजिटल प्लेटफार्म है और यह बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड अन्य राज्य सहित राजनीति, मनोरंजन, खेल, करंट अफेयर्स और ब्रेकिंग खबरों की हर जानकारी सबसे तेज जनता तक पहुंचाने का प्रयास करता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button