उत्तर पश्चिम दिल्लीउत्तर प्रदेशउत्तरी दिल्लीगुजरातछत्तीसगढजुर्मझारखंडदक्षिण दिल्लीदक्षिण पूर्व दिल्लीदिल्लीद्वारकापश्चिमी दिल्लीबाहरी दिल्लीबिहारमध्य प्रदेश

तेज़ रफ्तार कार ने चार जिंदगीयों को किया तबाह ,पहले बाईक को फिर मारा ऑटो को टक्कर

बाईक सवार शख्स के काटने पडे़ पैर,,दो ICU में,, घटना हुई सीसीटीवी में कैद,,पुलिस कार्रवाई ने किया गिरफ्तार

साउथ दिल्ली के साकेत पॉश इलाके में तेज रफ्तार कार ने 4 लोगों की जिंदगी को तबाही के कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। कार की चपेट में आने के बाद घायलों की तस्वीर देखकर कोई भी सन्न रह जाएगा। सिविल डिफेंसकर्मी का तो एक पैर ही काटना पड़ गया। जबकी 2 अभी कोमा में बताए जा रहे हैं और ऑटो ड्राइवर को भी गम्भीर चोट लगी है। यह मामला 17 अप्रैल के तड़के लगभग 3:30 बजे के आसपास की है। तेज रफ्तार कार ने पहले एक बाइक को जबरदस्त टक्कर मारा। जिस पर एक लड़की सहित 3 लोग सवार थे। उसके बाद एक ऑटो को भी चपेट में ले लिया। इस मामले में एफआईआर भी दर्ज हुई है, की 4 लोग घायल हुए हैं। इसमें इकलौते परिवार को चलाने वाले सिविल डिफेंस के जवान का पैर काटना पड़ा। वही एक सोशल वर्कर पति-पत्नी आईसीयू में जिंदगी में भर्ती है। घायल ऑटो ड्राइवर को भी गंभीर चोट लगी है।

घायलों के परिवार वालो से मिली सीसीटीवी फुटेज की तस्वीर में दिख रहा है, की पहले काले रंग की कार ने बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर ही नही उसे घसीटते हुए काफी आगे तक ले गई। उसके बाद दूसरी तस्वीर में वही कार ऑटो को भी जबरदस्त टक्कर मारते हुए आगे बढ़ती है। ऐसा लग रहा था, की सड़कों पर बाइक या ऑटो से चलने वाले और लोग भी इस तेज रफ्तार कार की चपेट में आये।

दर्दनाक हादसे में अपना एक पैर गंवाने वाले युवक हेमंत का कहना है, की कार ने जब बाइक को टक्कर मारा तो उसे अपने साथ काफी दूर तक घसीट कर ले गया, क्योंकि बाइक, कार में फंस गई थी। आरोप है, की कार सवार युवक ने कार से उतरकर मदद करने की बजाय गाड़ी को रिवर्स गियर में लिया। उसके बाद दोबारा बाइक को कुचलता हुआ आगे चला गया। जिसकी वजह से युवक का पैर बुरी तरह डैमेज हो गया और उसका एक पैर काटना पड़ा। हेमंत के पिता पहले ही दुनिया से जा चुके हैं। मां और बहनों की जिम्मेदारी उसी के कंधे पर है। शरीर और कद काठी से अच्छा होने के कारण अपने परिवार का गुजर-बसर करने के लिए यह सिविल डिफेंस में काम कर रहा था। लेकिन एक पर काटने की वजह से अब यह दिव्यांग हो गया। अब समस्या इसके सामने यह हो गई कि परिवार का भरण पोषण कैसे कर पायेगा ? ऐसा न हो पूरा परिवार खाने पीने के लिए मोहताज हो जाय।

इस हादसे में घायल मीना की 2 साल पहले शादी हुई थी। वह ब्यूटी पार्लर चलाती है,, इसके साथ ही सोशल वर्क का काम भी करती है। वह स्कूली बच्चों को मुफ्त में ब्यूटीशियन का कोर्स भी कराती है। लेकिन एक्सीडेंट के बाद मीना और उसका पति कृष्ण आईसीयू में एडमिट है। उनके शरीर पर कई जगह गम्भीर चोट लगी है। घायल युवक हेमंत इनके रिश्तेदारी में भाई लगते हैं। 17 अप्रैल के तड़के हादसे की सुबह जब कृष्ण के हाथ में थोड़ी चोट आई थी,,तो उसका इलाज कराने के लिए हेमंत इनको लेकर मदन मोहन मालवीय अस्पताल जा रहा था। बाइक हेमंत चला रहा था, पीछे मीना और कृष्ण बैठे थे। साकेत कोर्ट रेड लाइट के पास जैसे ही इनकी आगे बढ़ी, तेज रफ्तार काले रंग की कार ने जबरदस्त टक्कर मार दी।

एक्सीडेंट के इस मामले में डीसीपी साउथ बेनिता मैरी जैकर का कहना है कि 17 अप्रैल को सुबह 3:55 पर पीसीआर कॉल मिली थी, की साकेत कोर्ट रेड लाइट के पास एक कार बाइक सवार को हिट करके वहां से भाग गई है। मौके पर पुलिस टीम पहुंची वहां पर मोटरसाइकिल और ऑटो डैमेज हालत में मिले। घायल एम्स हॉस्पिटल में ले जाया गया था। कार के बंपर पर लगे नंबर प्लेट से पता चला कि वह दिल्ली नंबर की है। इस एक्सीडेंट में 4 लोग घायल हुए थे, जिसमें एक महिला भी है।

मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के बयान के आधार पर पुलिस ने 237/337 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया और बाद में सेक्शन 201 को भी जोड़ दिया गया। छानबीन के बाद पुलिस ने 20 अप्रैल को कार ड्राइव करने वाले शख्स विपुल धींगरा ( 31) को गिरफ्तार कर लिया है, जो शालीमार बाग का रहने वाला है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button